मंगलवार, 2 जून 2015

गर्मी में व्यवस्थित करें अपनी दिनचर्या:Summer Organize your routine











गर्मी का मौसम एक ऐसा मौसम होता है जब हमें अपने स्वास्थ्य के प्रति विशेष सावधानी रखनी पड़ती है। गर्मी के मौसम में ऐसी कुछ बीमारियां हैं जो अक्सर देखने को मिलती हैं जैसे दस्त, उल्टी, चक्कर आना, सिरदर्द होना इत्यादि। अगर इन बीमारियों का समय पर उचित इलाज न किया जाए तो इस प्रकार की बीमारियां खतरनाक भी हो सकती हैं।


ज्यादातर लोग गर्मी के मौसम को बुरा मानते हैं क्योंकि गर्मी का मौसम (लू) की सौगात लेकर आता है तथा साथ ही इन दिनों बिजली एवम् पानी की किल्लत लोगों को अलग से परेशान करती है। वैसे इस प्रकार की समस्याओं से परेशान होने की बजाय आप अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित करने की कोशिश करें तो ज्यादा बेहतर होगा।


अब यह जानना जरूरी है कि किस प्रकार आप अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित कर गर्मी के मौसम को अपने लिए अनुकूल बना सकते हैं|
1 प्रात:काल ही बिस्तर त्याग दें एवम् घंटे या आधे घंटे के लिए सैर को निकल जायें।
2 प्रात:काल नींबू पानी अथवा सादा पानी पिएं।
3अपने नाश्ते में हल्का-फुल्का भोजन लें। अत्यधिक घी-तेल वाले व्यंजन न खायें।
4 अपने भोजन में दही अथवा लस्सी का प्रयोग अवश्य करें।
5 यदि आप कहीं सर्विस करते हैं तो अपने लंच में हमेशा हल्का-फुल्का खाना ही रखें क्योंकि गरिष्ठ भोजन खाने से आपको बार-बार नींद आयेगी एवम् आप सही प्रकार से काम नहीं कर पायेंगे।
6 दिन में कम-से-कम दो बार स्नान करें और अगर संभव हो तो तीन बार स्नान भी कर सकते हैं।





7  गर्मी में अक्सर पेट-दर्द एवम् बदहजमी की शिकायत रहती है इसलिए अपने घर में सदैव हाजमोला, पुदीन-हरा अथवा ईनो इत्यादि दवाइयां सदैव तैयार रखें।


8  दिन में कम से कम पांच-छ: बार अपनी आंखें एवम् मुंह पर पानी की छींटें डालें। ऐसा करने से आप तरोताजा महसूस करेंगे।


9  गर्मी में कभी भी तेज सुगंध वाले डियो अथवा परफ्यूम का प्रयोग न करें क्योंकि इनकी तीव्र सुगंध वातावरण को सुगंधित करने की बजाय बोझिल बना सकती है।

10  जहां तक संभव हो सके, बाजार के शीतल पेय ना पियें। घर पर ही लस्सी, शर्बत इत्यादि बनाकर शीतल पेय के रूप में इस्तेमाल करें।

11  धूप में बाहर निकलने से पहले अपनी गर्दन एवम् चेहरे पर सनस्क्रीन लोशन लगायें और अगर संभव हो तो छाता साथ लेकर जायें।

12  गर्मियों में कभी गहरा मेकअप न करें क्योंकि पसीने की वजह से मेकअप खराब होने का डर बना रहता है।





गर्मी में होने वाली त्वचा संबंधी  समस्याएँ-


  तेज  गर्मी शुरू हो गयी है।  पारा आसमान छू रहा है, ऐसे में त्वचा को गर्मियों में आमतौर पर होने वाली पांच समस्याएं - टैनिंग, सनबर्न, पिंपल्स, रैशेज और पसीने की दुर्गंध आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती हैं। जानिए, गर्मियों के इन पांच समस्याओं से निजात पाने के कारगर उपाय-

रैशेज

गर्मियों में तेज धूप से अक्सर त्वचा पर एलर्जी या रैशेज हो ही जाते हैं। इनसे छुटकारे के लिए आप रैशेज पर एलोवेरा जेल लगाएं जिससे त्वचा को ठंडक मिलेगी और रैशेज जल्दी दूर होंगे। नहाने के पानी में चुटकी भर बेकिंग सोडा मिलाकर नहाने से भी गर्मियों में त्वचा पर एलर्जी नहीं होती है।


पिंपल्स-

पिंपल्स यानी मुंहासे से बचाव के लिए एक चम्मच नींबू के रस को मूंगफली के तेल में मिलाकर चेहरे पर लगाएं। या फिर पुदीने के रस को चेहरे पर लगाकर छोड़ दें और आधे घंटे बाद चेहरा धोएं। मेथी के पत्तों को पीसकर उसका पेस्ट मुंहासों पर पैक की तरह लगाने से आपको आराम मिलेगा।


सनबर्न-


सनबर्न वाली त्वचा पर ठंडे पानी में भिगोए कपड़े या बर्फ से सेंक करें, इससे जल्द राहत मिलती है। चाहें तो त्वचा पर एलोवेरा का जेल लगा सकते हैं। आलू को मिक्सर में पीसकर उसका रस निकाल लें और रुई से सनबर्न वाली त्वचा पर लगाएं, इससे तेजी से सनबर्न ठीक होता है।


पसीने की दुर्गंध-

गर्मियों में पसीने का दुर्गंध की परेशानी न हो इसके लिए दिन में खूब पानी पिएं। नहाने के पानी में एक चम्मच व्हाइट वेनेगर मिलाकर नहाने से भी पसीने से दुर्गंध नहीं आती। नहाने के पानी में गुलाबजल डालकर नहाने से भी पसीने से कम दुर्गंध आती है।

टैनिंग-

धूप से त्वचा टैन न हो इसके लिए नींबू का रस, गुलाबजल और खीरे का रस मिलाकर त्वचा पर लगाएं और थोड़ी देर बाद पानी से साफ कर लें।
एक टिप्पणी भेजें