26/2/14

एलोवेरा जूस अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी.




रोजाना  पियें थोड़ा सा एलोवेरा जूस और  रहें तंदुरुस्त 





एलोवेरा ५००० वर्ष पुरानी औषधि है| इसे हिन्दी में ग्वारपाठा या घृतकुमारी कहते हैं\ इसे संजीवनी पौधा भी कहा जाता है| इसकी लगभग २५० प्रजातियों में से कुछ ही में औषधीय गुण पाए गए हैं| हमारे शरीर के सही विकास के लिए २१ तरह के अमीनो एसिड्स की दरकार होती है| इनमें से १५ एमिनो एसिड्स तो एलोवेरा में ही मौजूद होते हैं| इसके जूस में केल्शियम,आयरन ,सोडियम,पोटेशियम,क्रोमियम,मैंगनीज,तांबा और जस्ता आदि खनिज लवण पाए जाते हैं|





    क्या है इसमें खास-इसमें १८ धातु,१५ एमिनो एसिड्स और १२ विटामिन होते हैं| ये खून की कमी दूर कर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाते हैं| एलोवेरा का जूस गर्भाशय और पेट के रोगों में हितकारी है| गर्मी,उमस और बारीश के कारण होने वाले फोड़े फुंसियों पर इसका रस लगाने से आराम मिलता है| गुलाब जल में एलोवेरा जूस मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरा चमकने लगता है|

   नुकसानदेह तत्वों को शरीर से बाहर कर देता है- अस्वास्थ्यकर जीवन शैली ,जंक,फ़ूड,प्रदूषण ,ड्रिंकिंग और धूम्र पान से शरीर में हानिकारक तत्व एकत्र होने लगते हैं| एलोवेरा जूस के प्रयोग से ये बाहर निकल जाते हैं|




   वजन घटाने में सहायक है-रोजाना एक गिलास एलोवेरा जूस पीने से वजन घटने लगता है| इसके सेवन से बार - बार भूख नहीं लगती है| साथ ही पाचन तंत्र भी दुरुस्त रहता है| एलोवेरा में कई पोषक तत्व भी पाए जाते हैं|

      दांतों को स्वस्थ रखता है-  एलोवेरा का जूस दांतों के पीलेपन को दूर करता है| दांतों में रोगाणु समाप्त कर है| यह सांस की दुर्गन्ध को नष्ट करने वाली औषधि है| मुंह के छाले में इसके जूस के गरारे करने चाहिए|

      बालों और त्वचा को  स्वस्थ बनाता है-  एलोवेरा जूस के सेवन से  रफ स्किन भी स्वस्थ  और कान्तिमान हो जाती है| त्वचा पर निखार आ जाता है|   बालों  की रूसी दूर करता है|   बाल स्वस्थ और  शाईनी  हो जाते हैं|

        खून की कमी में लाभदायक है-  एलोवेरा का ६ इंच लंबा छिला हुआ टुकड़ा ५-७ तुलसी के पाती,४-५ नीम के पत्ते  लेकर थोड़ा सा पानी डालकर पीस लें इस घोल को गर्म कर  काढा बनाकर पीने से एनीमिया का निवारण  हो जाता है|

  लाइलाज बीमारियों में हितकारी है-  गिलोय का रस १५ मिली ,एलोवेरा जूस १५ मिली, गेहू के जवारे का जूस १५ मिली ,तुलसी के ११ पत्ते ,नीम के ४ पत्ते इन सभी का जूस  सुबह शाम लेने से  केंसर  और कई लाईलाज रोगों में  आशातीत लाभ मिलता है|




एलोवेरा का जूस उच्च रक्त चाप में लाभकारी है| इससे ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है| इसका रस हृदय रोगों में उपकारी साबित हुआ है|


एक टिप्पणी भेजें