सोमवार, 14 जुलाई 2014

मधुमेह से कैसे बचाएं नाड़ी मंडल को ?


डायबीटीज से ऐसे बचाएं  नर्व्स सिस्टम  को 

     खान पान के परिवर्तित तरीके  के अलावा व्यायाम रहित और तनाव से भरी जिंदगी  की वजह से कई सारी  बीमारियों  को आम तौर पर देखा जा रहा है |अब  ब्लड  प्रेशर  और डायबीटीज  जैसी समस्याएँ सिर्फ बूढ़े लोगों  तक सीमित नहीं रह गयी हैं, बल्कि कम उम्र के लोग भी  इन बीमारियों  के शिकार होने लगे हैं| ऐसे में सही इलाज  के अलावा  अपनी लाईफ स्टाईल  में  परिवर्तन कर रोगी सामान्य जिंदगी व्यतीत कर सकता है| 





   मधुमेह के मामले में  अक्सर शरीर के कई अंगों  को नुकसान  पहुँचने  के साथ ही  शरीर में अन्य कई तरह की तकलीफें भी हो सकती हैं|  मधुमेह नाड़ी मंडल को भी  नुकसान  पहुंचा सकता है|  अत; नर्व्स  सिस्टम को मधुमेह के दुश्प्रभाओं  से बचाने के लिए  रोगी को निम्न उपाय करने की सलाह दी जाती है-

    सर्व प्रथम  अपने ग्लूकोज लेविल को  जितना हो सके नार्मल रखने का प्रयास करते रहें\  डायबीटीज के बारे में अधिक चिंता करने के बजाय जितनी सहजता से आप  अपनी रूटीन  के साथ बेलेंस  करके चलेंगे  उतना ही सामान्य  जीवन  आप जी पायेंगे| इसलिए अपने खान-पान  और एक्सरसाईज आदि के साथ नियमित रूटीन  को बेलेंस करें| 
   यदि आपको लेटकर या सो कर उठने के बाद बैठने या खड़े होने में  दिक्कत पेश आती हो या  आपको यह समझ में नहीं आता हो कि आपका ग्लूकोज  लेविल कब बहुत  कम हो जाता है ,तो नियमित अंतराल पर  शूगर  की जांच करवाते रहने का नियम बनाएँ| 
  अपने पैरों का पर्याप्त ध्यान रखें| साफ़ सफाई के अलावा पैरों को चोंट न लगे इस बात का  ख्याल रखना जरूरी है| यदि आपको हाथ ,पैरों,बाहों या पेट से जुडी कोइ समस्या बनी रहती हो तो अपने चिकित्सक को बताएं| पेशाब करने औए शौच  में कोइ समस्या हो तो भी चिकित्सक जरूर बताएं| 
  इन सारी बातों  का ध्यान रखकर आप डायबीटीज से अपने नाड़ी मंडल को होने वाले नुक्सान से बच सकते हैं| 




   मधुमेह से किडनी,नाड़ी मंडल ,,ह्रदय  आदि महत्व  पूर्ण अंगों को होने वाले नुक्सान  से बचाव  और शर्करा का स्तर नार्मल बनाए रखने  के लिए   हर्बल  औषधि हेतु  ०९८२६७-९५६५६ पर वैध्य दामोदर  से  संपर्क कर सकते हैं| 



एक टिप्पणी भेजें