25/1/16

अच्छी मेमोरी और तेज दिमाग के लिए योगासन :Yoga to increase mental power




अच्छी याददाश्त के लिए तरह-तरह के योगासन, ध्यान और प्राणायाम का नियमित अभ्यास बहुत फायदेमंद है। योगासन से शरीर में रक्त व ऑक्सीजन का प्रवाह अच्छी तरह होता है जिससे मस्तिष्क में इनका समचार बिना किसी रुकावट के होता है। इससे मस्तिष्क स्वस्थ रहता है और याददाश्त अच्छी रहती है। वहीं प्राणायाम के दौरान शरीर की ऊर्जा का संतुलन बना रहता है। गहरी सांस लेने से दिमाग को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन मिलता है जिससे दिमाग तेजी से काम करते है। वहीं ध्यान के नियमित अभ्यास से मानसिक शांति और तरोताजगी मिलती है।




कौन से योगासन हैं फायदेमंद

अच्छी याददाश्त और तेज दिमाग के लिए आप इन योगासनों को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।

सर्वांगासन

इस आसन के लिए पहले सीधे लेट जाएं, फिर पैरों को धीरे-धीरे उठाते हुए 90 डिग्री का कोण बनाएं। हाथों से कमर को सहारा दें। इस आसन में शरीर का सारा भार गर्दन पर पडऩा चाहिए। पैरों को सीधा रखें। कुछ क्षण बाद सामान्य मुद्रा में आ जाएं। इस आसन के नियमित अभ्यास से दिमाग में रक्त का प्रवाह सुचारू रूप से होता है जिससे दिमाग तेज चलता है और याददाश्त अच्छी रहती है।


भुजंगासन

भुजंगासन करने के लिए चटाई  पर पेट के बल लेट जाएं। दोनों हाथों को कंधों के पास रखें, धीरे-धीरे सिर और छाती को ऊपर उठाएं। सांस को सामान्य रखते हुए क्षमतानुसार रुकें। फिर सामान्य अवस्था में आ जाएं। याददाश्त तेज करने के लिए यह आदर्श योगासन है। इसके अलावा, साटिका, स्लिप डिस्क, कमर दर्द, स्पोंडलाइटिस आदि समस्याओं में भी इससे बहुत आराम मिलता है। 

ये प्राणायाम हैं फायदेमंद

योगासनों की तरह ही प्राणायाम भी अच्छी याददाश्त के लिए बहुत लाभदायक हैं। प्राणायाम से न सिर्फ मस्तिष्क की सेहत बरकरार रहती है बल्कि मानसिक शांति और तनाव से मुक्ति भी मिलती है। कपालभाति. भ्रामरी और भ्रस्तिका प्राणायाम याददाश्त तेज रखने के लिए सबसे फिट हैं। 

बाल झड़ रहे हैं तो करें योगासन

योगासन न केवल आपके बालों का झडऩा कम करते हैं, बल्कि शरीर को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाते हैं। योगासन और प्राणायाम का यदि नियमित रूप से अभ्यास किया जाए तो हमारे सिर में खून का संचार सही तरीके से होगा, पाचन क्रिया सही रहेगी और हम तनाव मुक्त रहेंगे।

अधोमुख शवासन 

यह सिर की रक्त संचार की प्रक्रिया को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है। इस आसन को हम अगर करें तो साइनस, मानसिक थकावट, अवसाद और अनिद्रा की शिकायत से छुटकारा मिलेगा।

वज्रासन


इससे हमारी पाचन क्रिया सही रहती है, जिससे हमारे बालों का झडऩा कम होता है। दूसरे आसनों के विपरीत यह आसन आप खाना खाने के तुरंत बाद भी कर सकते हैं।
अपानासन
यह आसन शरीर के जहरीले पदार्थो को बाहर निकाल कर शरीर को शुद्ध करता है, दिमाग को शांत रखता है और कब्ज से राहत देता है।

पवनमुक्तासन

इस आसन से शरीर की दूषित हवा बाहर निकल जाती है, शरीर के निचले हिस्सों की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं और कूल्हे और पेट की चर्बी भी कम होती है।



उत्थानासन
उत्थानासन करने से बालों का झडऩा रुकता है और बाल जल्दी बढ़ते हैं। यह शरीर की थकावट दूर करता है और मेनोपॉज में फायदेमंद है। पाचन क्रिया को भी सही रखता है।
इन बातों पर भी ध्यान दें
 योगासनों को अमल में लाने के साथ ही डाइट की ओर भी ध्यान देना जरूरी है। ऐसी डाइट लें, जिसमें ताजे फल, हरी सब्जियां, दाल, अंकुरित अनाज और दूध से बने पदार्थ शामिल हों, क्योंकि ये सारी चीजें हमारे बालों को पोषण देती हैं।
ठ्ठ हफ्ते में 2 से 3 बार बालों को नीम मिले पानी से धोएं, नारियल तेल से मसाज करें और नियमित रूप से झाडऩे से भी हमारे बालों को बढऩे में मदद मिलती है।
 तीखे रसायनों का प्रयोग करने से बचें।
एक टिप्पणी भेजें