गुरुवार, 11 मई 2017

नाक से खून बहने के उपाय उपचार नुस्खे



कई बार नाक से अचानक से खून आने लगता है। चिकित्‍सा जगत में इसे नकसीर फूटना कहा जाता है। बच्‍चों में यह समस्‍या अक्‍सर देखी जाती है, नाक में चोट लग जाने या बहुत गर्मी के दिनों में नाक से खून निकलना आम बात होती है, क्‍योंकि नाक के ऊतक क्षतिग्रस्‍त हो जाते हैं।
नाक से खून आने के कारण
गर्मी के कारण
रक्तकोश में खून की अधिक होने से|
नाक पर चोट लगने से|
रक्तताप बढ़ जाने के कारण |
स्कर्वी रोग मसुडो के फूलने के कारण|
नाक को जोर से खींचने के कारण
नकसीर  फूटने के कुछ समय बाद रक्त निकलना बंद हो जाता है| किसी का ज्यादा निकलता है तो किसी का कम खून निकलता है|बार बार नाक से खून आरहा है तो जल्द ही डॉक्टर को दिखाना चाहिए| यह किसी रोग के संकेत हो सकते है|



नाक से खून बहने पर उपचार -

*नाक से खून निकलने पर व्‍यक्ति के नथुनों को पकड़ लें और उसे सीधा बैठ जाने को कहें। 5 से 10 मिनट यूं ही बैठाये रखें। सिर केा हिलाने न दें। न ही लेटने दें। वरना गले में खून उतरने पर सांस की नली में अवरोध हो सकता है। बर्फ का इस्‍तेमाल एकदम से नहीं करना चाहिए। सबसे पहले नाक पर मॉश्‍चराइजर या कोई क्रीम लगाएं। खून रूक जाने पर आईसक्‍यूब से सेंक लें।
*प्याज का रस नाक में डालने से नाक में खून बहना कम होती है|
गाय के कच्चे दूध में फिटकरी घोलकर सूंघने से नकसीर ठीक होती है|

*आवले के चूर्ण को नाक पर लेप बनके लगाने से नाक से खून निकलना कम होता है|
*चाय कोफ़ी , गुड , शक्कर आदि का सेवन कम करे|
*हरे ताजे धनिया की पत्तियाँ लगभग २० ग्राम और उसमें चुटकी भर कपूर मिला कर पीस लें और रस छान लें। इस रस की दो बूँदे नाक के छिद्रों में दोनों तरफ टपकाने से तथा रस को माथे पर लगा कर हल्का-हल्का मलने से नाक से निकलने वाला खून, जिसे नकसीर भी कहा जाता है, तुरंत बंद हो जाता है।
*बड़े लोगों में यह समस्‍या, रक्‍तचाप बढ़ जाने के कारण होती है या फिर किसी प्रकार का संक्रमण होने पर होती है, जिस बीमारी के कारण ऐसी समस्‍या होती है उसे आर्टरियोस्‍केलिरोसिस कहा जाता है।
*आवले के मुरब्बे का सेवन करे|आवले का रस नाक में डालने से ब्लड निकलना बंद होता है|
*एक गिलास दूध में शक्कर मिलाकर दो केले दस दिन तक सेवन करे ,बार बार नाक से खून आने का बंद हो जाएगा|



*दूब का रस नाक से सूंघे |

*तुलसी के रस की 4-5 बुँदे नाक में डालने से आराम मिलता है|
*नाक में देसी घी डालने से खून आना कम होता है|
*एक सप्ताह हर सुबह नारियल गिरी खाए और उसका रस पिए |
*ठंडा पानी लेकर इसे सर पर डाले तो रक्तस्त्राव बंद होता है|
*रोगी को किसी ठंडे स्थान पर बिस्तर पर लिटाये और गर्दन पीछे की और रखकर तकिया लगाकर लिटा देना चाहिए |
*सर पर ठंडा पानी डाले|
* मीठे अंगूर का रस नाक में खींचे , नकसीर बंद होती है|
*बार बार नकसीर फूटने पर सूखे आंवलों को रात भर भिगो कर सवेरे उससे सिर धोया करे|
*खुराक में अधिक साइट्रस फलों का सेवन करें। साइट्रस फलों में बायोफ्लैवोनाइड्स की मात्रा काफी ज्‍यादा होती है जिसके कारण नाक से रक्‍त आने की समस्‍या दूर हो जाती है।
*कई बार आपके द्वारा खाई जाने वाली दवाएं भी नाक से रक्‍त निकलने का कारण बन जाती हैं। जैसे कि एस्प्रिन और हेपेरिन, इन दवाईयों में ऐसे तत्‍व होते हैं जो रक्‍त को पतला कर देते हैं और कई बार इसके कारण ही नाक से रक्‍त बहने लगता है। 
एक टिप्पणी भेजें